6th kalima in Hindi – कलेमा रद्दे कुफ्र (कलेमा कुफ्र बेज़ारी का)

बिस्मिल्ला हिर्रहमा निर्रहीम
अल्लाहुम्मा इन्नी अऊजू बिका मिन उशरीका बिका शयअंव व अना अअलमु बिहि व अस्तग्फिरुका लिमा ला अअलमु बिहि तूबतू अन्हु वतबर्रअतु मिनल कुफरी वश शिरकी वल किज़्बी वल गी-बति वल बिद-अति वन्नमी-मति वल फवाहिशी वल बुहतानि वल मआसी कुल्लिहा असलमतु व आमन्तु व अकुलु ल इलाहा इल्लल्लाहु मुहम्मदुर रसूलुल्लाह


अनुवाद

अय अल्लाह में तेरी पनाह चाहता हुं इस बात से के तेरे साथ किसी चीज़ को शरीक करूं और मुझे इसका इल्म हो. और बख्शिश चाहता हुं मैं तुझसे वास्ते उन गुनाहोके जिनका मुझे इल्म नहीं, मैंने उससे तौबा की, और बेज़ार हुवा में कुफ्रसे, शिर्कसे, जूठसे, ग़ीबतसे, बिदअतसे, चुंगलखोरीसे और बुरी बातोंसे और तोहमत लगानेसे और तरह तरह की नाफ़रमानियो से, में इस्लाम लाया, में ईमान लाया और केहता हु के अल्लाह के सिवा कोइ इबादत के लायक नहीं, हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलयहि वसल्लम अल्लाह के रसूल हैं.


1st kalima in Hindi – कलेमा तय्यब (कलमा पाकी का)
2nd kalima in Hindi – कलेमा शहादत (कलेमा गवाही का)
3rd kalima in Hindi – कलेमा तमजीद (कलेमा बुज़ुरगी का)
4th kalima in Hindi – कलेमा तवहीद (कलेमा अल्लाह को एक मानने का)
5th kalima in Hindi – कलेमा अस्तग़फार (कलेमा तोबा करने का)


6th kalima in Hindi – कलेमा रद्दे कुफ्र (कलेमा कुफ्र बेज़ारी का)
5 (100%) 1 vote
Share This

Leave a Comment

Subscribe

Get the latest posts delivered to your mailbox: